मुग़ल बादशाह बाबर की आख़री जंग

mugal baber last war in bihar chpara

आज ही के दिन 6 मई 1529 को बिहार छपरा में “घाघरा का युद्व” लड़ा गया। यह जंग मुग़ल बादशाह बाबर की आख़री जंग थी। ये जंग जितनी ज़मीन पर लड़ी गयी उतनी ही पानी पर, जंग के बाद घाघरा नदी खून से लाल हो गयी थी। मुग़ल बादशाह बाबर ये जंग बाबर और महमूद लोदी की गठबंधन सेना की बीच लड़ी गयी। इस जंग में बिहार के सुल्तान जलालुद्दीन लोहानी, बंगाल के सुल्तान नुसरत शाह और शेरशाह सूरी ने महमूद लोधी का साथ दिया था। तब शेरशाह सूरी लोहानी…

धनेडा की मस्जिद और महान शासक ओरंगजेब का रिश्ता

धनेडा की मस्जिद और महान शासक ओरंगजेब का रिश्ता

महान शासक ओरंगजेब द्वारा किया गया एक ऐसा इन्साफ , जिसे देश की जनता से छुपाया गया l औरंगज़ेब काशी बनारस की एक ऐतिहासिक मस्जिद (धनेडा की मस्जिद) यह एक ऐसा इतिहास है जिसे पन्नो से तो हटा दिया गया है लेकिन निष्पक्ष इन्सान और हक़ परस्त लोगों के दिलो से (चाहे वो किसी भी कौम का इन्सान हो) मिटाया नहीं जा सकता, और क़यामत तक मिटाया नहीं जा सकेगा…।औरंगजेब आलमगीर की हुकूमत में काशी बनारस में एक पंडित की लड़की थी जिसका नाम शकुंतला था, उस लड़की को एक…